ambedkar

बाबा साहब ने सविधान लिखते ही क्या कहा ?

सविधान लिखते समय बाबा साहब ने कहा था कि संविधन कितना ही अच्छा क्यों न हो !

अगर उसे चलाने वाले अच्छे है तो अच्छा सावित होगा ,
और चलाने वाले अगर अच्छे नही है तो अच्छा संविधान भी अंततः बुरा सावित होगा ।

लोकतंत्र के तीनों स्तम्भ

1: व्यवस्थापिका
2: कार्यपालिका
3: न्यायपालिका

तो आज लोकतंत्र के तीनों स्तम्भ व्यवस्थापिका, कार्यपालिका, न्यायपालिका स्वतन्त्र रूप से, निष्पक्ष रूप से कार्य नही कर रही ,

आज इनसे न्याय की आशा नही की जा सकती , अगर हम अब बाबा साहब के मिशन के सच्चे अनुयायी है अम्बेडकर वादी है, तो सम्पूर्ण अखंड भारत के बहुजन समाज के लोगो को एक साथ एक मंच पर आकर संघर्ष करना पड़ेगा ।

तब हम सब का मन स्वाभिमान व् जान बचेगा । और संगठित होकरआज के पुष्यमित्र शुंग को धराशायी करना पड़ेगा, तब जाकर बाबा साहब के मिशन को हम सब सफल कर सकते है ।

बाबा साहब सा ज्ञान व् विश्वास,सम्राट अशोक सा शाहस, मान्यवर कांसी राम साहब सा दृढ़संकल्प व् बहन कु0 मायावती जी सा नेतृत्व की आवश्यकता है ।

जूटो, जुटाओ, एक हो जाओ ।मान स्वाभिमान,और भीम का मिशन सजाओ

।। जय भीम,जय भारत ।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *